बर्थ-डे स्पेशल : जब "जंबो" की फिरकी के आगे ढ़ेर हुई पाकिस्तानी टीम , बना डाले कई रिकॉर्ड

बर्थ-डे स्पेशल : जब "जंबो" की फिरकी के आगे ढ़ेर हुई पाकिस्तानी टीम , बना डाले कई रिकॉर्ड

अनिल कुंबले 1990 में पहली बार भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा बने और देखते ही देखते वो दुनिया के बेहतरीन स्पिन गेंदबाजों में शुमार हो गए।

Jantantra Tv Desk

October 17,2018 01:06

नई दिल्ली। भारत की तरफ से सबसे अधिक 956  इंटरनेशनल विकेट लेने वाले और जंबो के नाम से मशहूर अनिल कुंबले आज अपना 48वां जन्मदिन मना रहे हैं। श्रीलंका के दिग्गज स्पिन गेंदबाज  मुथैया मुरलीधरन के 800 और ऑस्ट्रेलिया के  शेन वॉर्न के 708 टेस्ट विकेट के बाद अनिल कुंबले कुल 619 टेस्ट विकेट लेकर तीसरे सबसे अधिक टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। अनिल कुंबले के नाम टेस्ट क्रिकेट में 619 और वनडे क्रिकेट में 337 विकेट हैं।

अनिल कुंबले बेहद ही शांत स्वभाव के खिलाड़ी माने जाते थे और वह हमेशा से विवादों से दूर रहे हैं। इसी के चलते उन्होंने विराट कोहली के साथ मतभेदो की खबरों के बीच टीम के कोच पद से भी इस्तीफा दे दिया। अनिल कुंबले 1990 में पहली बार भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा बने और देखते ही देखते वो दुनिया के बेहतरीन स्पिन गेंदबाजों में शुमार हो गए। देश हो या फिर विदेश कुंबले की गेंदबाजी का जलवा पूरी दुनिया ने देखा।

Image result for anil kumble 10 wickets in test vs pakistan'

जब दिल्ली में दिखा 10 का दम

अनिल कुंबले एक टेस्ट पारी में 10 विकेट हासिल करने वाले दुनिया के दूसरे गेंदबाज और भारत के पहले गेंदबाज हैं। दरअसल साल 7 फरवरी 1999 वो दिन था जब कुंबले ने पाकिस्तान के खिलाफ दिल्ली टेस्ट की एक पारी में 10 विकेट अपने नाम किए । लेग स्पिनर कुंबले ने एक पारी में 26.3 ओवर में 9 मेडन के साथ 74 रन देकर 10 विकेट चटकाए थे। उस मैच में 420 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तानी टीम के सलामी बल्लेबाज सईद अनवर और शाहिद अफरीदी ने 101 रन जोड़े थे, लेकिन पूरी टीम 207 रनों पर सिमट गई और भारत ने पाकिस्तान को 212 रनों से मात दी थी। 

Related image

जंबो के नाम से हुए मशहूर

कुंबले जंबो के नाम से कैसे मशहूर हुए थे इस बात का खुलासा उन्होंने खुद ही किया था। कुंबले ने कहा था- 'मेरे उपनाम (जंबो) की मुहर और कोई नहीं नवजोत सिंह सिद्धू ने लगाई. उस वक्त मैं ईरानी ट्रॉफी में दिल्ली के कोटला में रेस्ट ऑफ इंडिया की तरफ से खेल रहा था और सिद्धू मिड ऑन पर फील्डिंग कर रहे थे, मेरी कुछ गेंद अचानक उछल रही थी, जिसके बाद सिद्धू ने कहा ‘जंबो जेट'. बाद में जेट तो हट गया, लेकिन जंबो रह गया. तब से मेरे सभी टीम-साथी मुझे जंबो कहने लगे.'

कुंबले को मिले ये अवॉर्ड

1995 – अर्जुन अवार्ड, भारत सरकार।1996 – विस्डन क्रिकेटर ऑफ़ दी इयर।2002 – विस्डन क्रिकेटर ऑफ़ दी 20th सेंचुरी में चुने गये 16 क्रिकेटरो में से एक।2005 – पद्म श्री, भारत सरकार।एम्.जी. रोड, बेंगलोर के प्रमुख चौराहे का नाम अनिल कुंबले के नाम पर रखा गया।2015 – ICC क्रिकेट हॉल ऑफ़ फेम, ICC द्वारा दिया जाने वाला अवार्ड।

ad