भाजपा को लगा करारा झटका, बहराइच से सांसद सावित्रीबाई फुले ने दिया इस्तीफा

भाजपा को लगा करारा झटका, बहराइच से सांसद सावित्रीबाई फुले ने दिया इस्तीफा

Jantantra Tv Desk

December 6,2018 05:08

भारतीय जनता पार्टी को एक बड़ा झटका लगा है, दरअसल भाजपा की एक और नेता ने अपने पद से इस्तीफा देते हुए पार्टी पर कई सवाल उठाए हैं। बता दें कि बहराइच की सांसद सावित्रीबाई फुले ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। सावित्रीबाई फुले ने इस्तीफा देने की वजह भाजपा सरकार का नकारात्मक रवैया बताया है।

उन्होंने बताया की मैं आज इस्तीफा देकर बहुत दुखी हूं, लेकिन भारतीय जनता पार्टी के अन्य लोगों के मुंह से अक्सर ये सुनने  को मिलता है कि संविधान बदला जाएगा, लेकिन ना तो संविधान लागू किया जा रहा है न ही आरक्षण लागू किया जा रहा मेरी मांगो को सरकार द्वारा ठुकराया गया। आज भाजपा सरकार बहुजनों के हित में कार्य नही कर रही बाबा साहब की प्रतिमा तोड़ी गयी लेकिन उनके विरुद्ध कोई कार्यवाही नही की गई भाजपा के मंत्री संविधान बदलने की बात करते है भाजपा के बड़े नेता आरक्षण को खत्म करने की बात करते है।

इसके साथ ही उन्होंने पार्टी पर इल्जाम लगाते हुए कहा कि इस सरकार में अल्पसंख्यक लोगो को प्रताड़ित किया जा रहा है, इसके साथ ही बहुजन समाज के इतिहास को मिटाया जा रहा है, और देश के विकास पर ध्यान ना देकर देश में मन्दिर और मूर्तिया बनाई जा रही है, और भारतीय संविधान की धज्जियां उड़ाई जा रही है।

बता दें कि हाल ही में भगवान हनुमान जी पर हुए जातिगत विवाद में सावित्रीबाई फुले ने सीएम योगी आदित्यनाथ के दावे का समर्थन किया था। सांसद ने कहा था कि हनुमान जी दलित थे। हालांकि उन्होंने योगी के बयान से बढ़कर बोलते हुए कहा कि हनुमान जी मनुवादियों के गुलाम थे।

इसके साथ ही उन्होंने राम मंदिर मामले पर भी विवादित बयान दिए थे, उन्होंने कहा था कि राम मंदिर को देश के तीन प्रतिशत ब्राह्मणों के पैसे कमाने का जरिया है, अगर भगवान राम में अगर शक्ति होती तो अयोध्या में राम मंदिर अब तक बन चुका होता।

पिछले महीने ही भाजपा के सांसद हरीश मीणा ने पार्टी छोड़ कांग्रेस ज्वाइन कर ली थी। दौसा से सांसद मीणा ने ‘पंजे’ से पंजा मिलाते हुए कहा था कि, वह बिना किसी शर्त के कांग्रेस में शामिल हुए हैं। हरीश मीणा के बड़े भाई नमोनारायण मीणा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं।

 

ad