शहीद सुबोध के परिवार वालों से मिले सीएम योगी, मदद और न्याय दिलाने का दिया आश्वाशन

शहीद सुबोध के परिवार वालों से मिले सीएम योगी, मदद और न्याय दिलाने का दिया आश्वाशन

शहीद सुबोध सिंह के परिवार से मिले सीएम योगी, करेंगे आर्थिक मदद और परिवार के सदस्यों को मिलेगी सरकारी नौकरी

Jantantra Tv Desk

December 6,2018 12:19

बुलंदशहर में सोमवार को हुई हिंसा में शहीद हुए सुबोध सिंह के घरवालों से आज सीएम योगी आदित्यानाथ ने मुलाकात की है। आज सुबोध के परिवार वाले लखनऊ गए जहां पर लखनऊ के पांच कालिदास मार्ग स्थित मुख्यमंत्री के आवास पर शहीद सुबोध का पूरा परिवार पहुंचा था, जहां पर योगी जी ने उनसे मुलाकात की।

योगी जी ने सुबोध के परिवार वालों को आश्वाशन दिया कि उनकी हर प्रकार से मदद की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा और उनके परिवार को न्याय मिलेगा। मुख्यमंत्री ने इस पूरी घटना को एक बड़े षडयंत्र का हिस्सा बताया है, और साथ ही सिर्फ सुबोध के परिवार की नहीं बल्कि इस हिंसा में मारे गए युवक सुमित के परिवार जनों को भी मुख्यमंत्री राहत कोश से 10 लाख रूपए की आर्थिक मदद की घोषणा की है।  

बता दें कि सरकार द्वारा सुबोध के परिजनों को पहले ही 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की जा चुका है। इसके साथ ही सुबोध के मकान का कर्ज भी सरकार द्वारा ही चुकाया जाएगा। इसके साथ ही परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी, पेंशन और जैथरा कुरावली सड़क का नाम भी इंस्पेक्टर सुबोध के नाम पर रखने की बात हो रही है। इसके साथ ही सुबोध के बेटे की सिविल सर्विस की कोचिंग करने में भी सरकार द्वारा मदद की जाएगी।

मुलाकात के बाद इंस्पेक्टर के बेटे ने बताया, 'मुख्यमंत्री जी ने आश्वासन दिया है कि उन्हें सही न्याय मिलेगा. दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी. उन्होंने कहा कि वह हमारे परिवार के साथ हैं.'

बता दें कि पीड़ित परिवार की सीएम योगी के साथ मुलाकात के बाद यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस रखी जिसमें उन्होंने बताया की, 'पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपए की मदद राशि दी जाएगी. बच्चों की पढ़ाई के लिए जो बैंक से लोन लिया गया है, वह राशि भी सरकार की तरफ से दी जाएगी. यह भी तय किया गया है कि परिवार के एक सदस्य को नौकरी, साथ ही पेंशन भी दी जाएगी. पुलिस का मुखिया होने के नाते मैंने वादा किया है कि दोनों बच्चों को इंफॉर्मल-वे में भी मदद दी जाएगी. सुबोध सिंह का सपना था कि वह रिटायरमेंट के बाद स्कूल बनाएं. कॉलेज का नाम भी सुबोध सिंह के नाम पर रखा जाएगा. सिंह के ऊपर शिक्षा और मकान का लोन है, वह सरकार की तरफ से चुकाया जाएगा.'

ad